Okebiz Video Search



Title:सेंधवा फोर्ट [किला] // सैंधव से बना सेंधवा'' history for sendhwa ka kila
Duration:17:02
Viewed:78,807
Published:07-02-2022
Source:Youtube

सेंधवा फोर्ट: कभी गरजती थीं यहां तोपें, आज अस्तित्व पर खतरा उत्तर दक्षिण की सीमाओं की रक्षा के लिए सेंधवा किले का निर्माण किया गया था। सेना की टुकड़ी भी यहां तैनात रहती थी। 1] = सेंधवा. कभी अपनी गर्जना से दुश्मनों के होश उड़ाने वाली तोपें आज देखरेख के अभाव में खस्ता हैं। बेशकीमती होने के बाद भी इनकी कोई कीमत नहीं समझी जा रही है। जहां-तहां पड़े ये तोप अब अपनी दशा पर आंसू बहा रहे हैं। कुछ तोप किले की दीवारों पर हैं। जहां इनकी कोई देखरेख नहीं होती। धरोहरों को लेकर अधिकारी भी गंभीर नहीं हैं। प्राचीन किला भी अब जर्जर अवस्था में है। दीवारों पर झाडिय़ां तक उग आई हैं। इससे किला लगातार कमजोर होता जा रहा है। जबकि किले की दशा सुधार दी जाती तो, पर्यटन के लिहाज से यह स्थान काफी महत्वपूर्ण हो सकता है। 2] = सेराज अहमद खां सेंधवा. कभी अपनी गर्जना से दुश्मनों के होश उड़ाने वाली तोपें आज देखरेख के अभाव में खस्ता हैं। बेशकीमती होने के बाद भी इनकी कोई कीमत नहीं समझी जा रही है। जहां-तहां पड़े ये तोप अब अपनी दशा पर आंसू बहा रहे हैं। कुछ तोप किले की दीवारों पर हैं। जहां इनकी कोई देखरेख नहीं होती। धरोहरों को लेकर अधिकारी भी गंभीर नहीं हैं। प्राचीन किला भी अब जर्जर अवस्था में है। दीवारों पर झाडिय़ां तक उग आई हैं। इससे किला लगातार कमजोर होता जा रहा है। जबकि किले की दशा सुधार दी जाती तो, पर्यटन के लिहाज से यह स्थान काफी महत्वपूर्ण हो सकता है। 3] = तापों की सुध नहीं किले में मौजूद तोपें बेहाल हैं। किले के मुख्य गेट की दीवार के ऊपर एक तोप मौजूद है। तीसरे गेट के ऊपर मजार के पास भी एक तोप पड़ी हुईहै। इनकी कोई देखरेख नहीं होती। नगर के झंडा चौक, विधायक कार्यालय के सामने मंडी के गार्डन में, नगरपालिका कार्यालय परिसर में भी एक-एक तोप मौजूद हैं। पूर्व में ये तोपें किले के अंदर स्थित थीं। 4] = किले में थी सुरंग किंवदंती है कि प्राचीन किले में सुरंग भी मौजूद थी। यह सुरंग सेंधवा किले से भंवरगढ़ किले तक जाती थी। युद्ध के दौरान इसी सुरंग के माध्यम से सैनिक दोनों किलों तक आया जाया करते थे। 5] = सैंधव से बना सेंधवा कहा जाता है, किसी समय सेंधवा घोड़े की बड़ी मंडी थी। अच्छी नस्ल के घोड़ों के लिए राजा-महाराजा यहां आते थे। घोड़े की बड़ी मंडी होने की वजह से नगर का नाम सेंधवा पड़ा। बता दें, घोड़े को सैंधव नाम से भी जाना जाता है। किले में मुख्य द्वार के पास घोड़ों को बांधने के लिए अस्तबल भी बना हुआ था। लेकिन अब इसका अस्तित्व खत्म हो चुका है। 6] = खजाने भी मिले हैं किले की खोदाई में खजाने मिलने की भी बात सामने आ चुकी है। किले में पांडल मिट्टी खोदने के दौरान सोने की ईंट, सोने, चांदी की गिन्नियां भी लोगों को मिली हैं। वहीं किले के अंदर उपजेल होने से सजायाफ्ता कैदियों द्वारा किले की दीवारों के पास खुदाईके वक्त बड़ी मात्रा में सोने एवं चांदी की गिन्नियां प्राप्त हुईं थी। जिसे सरकारी खजाने में जमा कराया गया था। 7] = पहले था घना जंगल पहले सेंधवा एवं आसपास के क्षेत्रों में घना जंगल था। जंगली जानवरों की भरमार थी। यहां की आबादी किले के अंदर निवास करती थी। सूरज ढलने के बाद कम ही लोग किले से बाहर आते थे। किले का बड़ा गेट बंद कर दिया जाता था। 8] = कमरों के अवशेष दिखे थे किले के अंदर कई कमरे एवं भवन भी बने होने की मान्यता है। बताया जाता हैकि गोडाउन निर्माण के दौरान हुई खोदाई में कई कमरों के अवशेष नजर आए। लेकिन इसपर ध्यान नहीं दिया गया। 9] = चारों तरफ थे तालाब किले के चारों कानों पर भव्य तालाब बने थे। ताकि दुश्मन किले में प्रवेश न कर पाए। बढ़ती आबादी एवं समय के साथ ये तालाब अब खत्म हो चुके हैं। किले के अंदर पानी के लिए दो तलाब, जो राज राजेश्वर मंदिर के पास एवं रानी गार्डन के पास अभी भी मौजूद हैं। जलस्तर गिरने एवं भीषण गर्मी के बावजूद इन तालाबों में पानी बना रहता है। 10] = परमारकालीन है यह किला शासकीय महाविद्यालय अंजड़ के प्राचार्य डॉ. आईए बेग कहते हैं कि सेंधवा का किला परमार कालीन है। उत्तर दक्षिण की सीमाओं की रक्षा के लिए इसका निर्माण किया गया था। सेना की टुकड़ी भी यहां तैनात रहती थी। शस्त्रागार भी यहां मौजूद था। इसकी निशानियां तोपों के रूप में आज भी किले की दीवारों पर दिखाई देती हैं। देखरेख न होने के चलते किला एवं तोप अब जर्जर स्थिति में पहुंचने लगे हैं। निमाड़ की ऐतिहासिक धरोहर इतिहास के पन्नों में गुम न हो जाए, इसके लिए शासन को इस ओर गंभीरता से चिंतन करनी चाहिए। मेरे द्वारा इस संबंध में शासन को लेखों द्वारा अगवत कराया गया था। शहीद वीर बिरजू नायक!!$ सन 1857 की क्रांति के शौर्य क्रांतिकारी एक महान योद्धा matli or sawerda video ==https://youtu.be/CHZyYDWoZYc 🗽बावनगजा⛩️ का वीडियो//barwani आपके मोबाइल📲 से ही पूरा बावन गजा घुमे🛣️🛣️ ==https://youtu.be/wbGq61mQ-cw instagram www.instagram.com/arvind.kanoje/ facebook www.facebook.com/arvind.kanoje.90/ twitter twitter.com/KanojeArvind maheshwar fort https://www.youtube.com/watch?v=9oinC... #sendhwanews #sendhwasdmtapasyaparihar #sendhwa #sendhwa_news #sendhwaupdate #kilahistory #soravjoshivlogs #bhawani #vlogging #vlog #vlogger #vloggers #vlogmusic #vlogmas #vloggers

SHARE TO YOUR FRIENDS


Download Server 1


DOWNLOAD MP4

Download Server 2


DOWNLOAD MP4

Alternative Download :



SPONSORED
Loading...
RELATED VIDEOS
[372] अंदर देखो रानियों के बेडरूम, बाथरूम और कूलर... Aamer kila Fort Jaipur Rajasthan Tour history [372] अंदर देखो रानिय...
37:17 | 3,352,245
Burhanpur History: वो किला जो रहस्यों से भरा है. जहां अब भी आते हैं अश्वत्थामा ! Asirgarh Fort Burhanpur History: वो किला जो ...
18:50 | 49,583
आदिवासी परिवार शॉर्ट मूवी पार्ट 3 ||aadivasi pariwar short movie part 3 ||😃😃 आदिवासी कॉमेडी वीडीयों आदिवासी परिवार शॉ...
09:35 | 859,115
गोंडवाना का हरियागढ़ क़िला और राजा जाटबा धुर्वा,Hariyagarh Fort & Raja Jatba Dhurwa-Dr Suraj Dhurvey गोंडवाना का हरिया...
30:31 | 112,339
धमाकेदार गरबा मंडल मडगांव में कमलेश ठाकुर जि ने श्री गणेश जी के धमाकेदार गरबा मंड...
02:24 | 28,950
Sendhwa Documentary | Yash Vyas Studios Sendhwa Documentary | Yash Vyas Studios
20:19 | 99,068
Asirgarh Fort | जहां आज भी आते हैं अश्वत्थामा | गुप्तेश्वर मंदिर की गुफा से जाता है असीरगढ़ का रस्ता Asirgarh Fort | जहां आज भी आ...
18:29 | 128,816
Aadiwasi New Video Song।Dambarya । डांबऱ्या । Subhash Valvi Official । Ritesh Kirade Aadiwasi New Video Song।Dambarya । डा...
06:37 | 1,998,127

shopee ads

coinpayu